PatnaInfo.com
India New Case
31179
India Active Case
437000
India New Death
482

छठ पूजा | बिहार में आस्था का महापर्व

Patna Info   News Post   
छठ  पूजा | बिहार में आस्था का महापर्व

अगर बिहार के पर्व त्योहारों की बात करें तो आस्था का महापर्व छठ बिहार की पहचान मानी जाती है | हर साल कार्तिक महीने के शुक्ल पक्ष की षष्ठी को मनाया जाने वाला यह महापर्व इस साल 20 नवम्बर 2020, शुक्रवार को है | छठ पर्व दुनिया का एकलौता ऐसा पर्व है जहाँ डूबते हुए सूर्य की भी पूजा की जाती है |

वैसे तो छठ पर्व बिहार में ही मनाया जाता था लेकिन विगत 10-15 साल से यह लगभग भारत के अधिकांश हिस्से में मनाया जाने लगा है | और इसका मुख्या कारण बिहार के लोगों का पुरे भारत में होना | बहुत सारे बिहारी या तो काम के सिलसिले में या मजदूरी के लिए दिल्ली , मुंबई , अहमदाबाद , कोलकाता , भोपाल , अमृतसर इत्यादि जगह पर जाते हैं | पहले अधिकतर लोग छत में वापस बिहार आ जाते थे लेकिन समय के साथ साथ काम की व्यस्तता और यातायात के साधनो की कमी के कारण बहुत लोग घर वापस नहीं आ पाते और इसी के बाद से बिहारी लोगों ने जहाँ हैं वहीँ पर पर्व मानना शुरू कर दिया |

छठ पर्व दुनिया का एकलौता ऐसा पर्व है जहाँ डूबते हुए सूर्य की भी पूजा की जाती है |

देखते देखते इस महापर्व के बारे में भारत के दूसरे क्षेत्र के लोगों को पता चला और बहुत से लोगों ने मनाना शुरू कर दिया | इसके कारण अब यह पर्व पूरे भारत में जाना जाने लगा है | अब तो यह पर्व अमेरिका ,लंदन जैसे शहर में भी मनाया जाने लगा है |

छठ पर्व की विधि

छठ पर्व बहुत ही पवित्रता के साथ मनाया जाता है | छठ पर्व के बहुत सारे भाग होते हैं जिसमे नहाय खाय , खरना , षष्ठी और सप्तमी होता है | इसकी शुरुआत षष्ठी के दो दिन पहले चतुर्थी से से होती है जिसमे घर की पूरी सफाई की जाती है और पवित्र आहार खाया जाता है | पहले जिन लोगों के घर मिटटी के थे वहां गाय के गोबर से घर को नीपा [ पोछा ] लगाया जाता था | इसके बाद पंचमी को खरना होता है जिसमें खीर और कद्दू [लौकी ]का सेवन किया जाता है |

षष्ठी को व्रती निर्जला [ पानी भी नहीं पीना ] व्रत पूरे दिन रात रखना होता है और संध्या काल में डूबते सूर्य को अर्घ्य देते हैं | इसके बाद अगले दिन उगते हुए सूर्य को अर्घ देतें हैं और पवित्र प्रसाद का सेवन किया जाता है | इस तरह से इस पर्व का समापन होता है |

महत्वपूर्ण तिथि
18 नवंबर 2020, बुधवार- चतुर्थी (नहाय-खाय)
19 नवंबर 2020, गुरुवार- पंचमी (खरना)
20 नवंबर 2020, शुक्रवार- षष्ठी (डूबते सूर्य को अर्घ)
21 नवंबर 2020, शनिवार- सप्तमी (उगते सूर्य को अर्घ)
For Advertisement here, contact PatnaInfo.com
Business
Rate Card Business
T&C Business
Category Links All
Job 
Publish Business
Contact Us
Verification Advice
Employee
Fixed Links for PatnaInfo.com
Website Access